संभावना, निष्कर्ष और निर्णय:-

संभावना, निष्कर्ष और निर्णय:-तीन अलग अलग शब्द और तीनों के अलग अलग महत्व। तो आज इन शब्दों से क्या सीखने और समझने वाले हैं हम?कुछ दिलचस्प ही है जो कि हर व्यक्ति विशेष से जुड़ा हुआ है। कैसे किसी भी इंसान को हम गलत  का दर्जा देते हैं?उसकी किसी भी बात को जो कि उसके … Continue reading संभावना, निष्कर्ष और निर्णय:-

भैया चुनाव आ रहा है। ( हमरी कलम से)

सुबह सुबह टेहलने निकले तो दिखा अजब नज़ारा, सदियों बाद साफ सुथरा दिखा हमें मुहल्ला हमारा। मिजाजे सड़क का था अजब सा चेहरा, हर चौराहे पे था पुलिस का पेहरा। कुछ एक रंग के झंडो से, सजा था शहेर हमारा, कोने में पड़ा कूडादान, मायूस खड़ा था बेचारा। रातों रात नई सड़क देख मन अचंभित … Continue reading भैया चुनाव आ रहा है। ( हमरी कलम से)

बात बिगड़ जाएगी।( हमरी कलम से )

मेरी खामोशी को खामोशी ही समझना, कुछ और समझोगे तो बात बिगड़ जाएगी। बेवजह यू न करीब आना, गर हम करीब आऐ तो बात बिगड़ जाएगी। अपनी हसरतों को यूं न दबा के रखना हमसे उमिद रखोगे तो बात बिगड़ जाएगी। और, मेरी नज़रों को समझ लेने का फन अभी तुम्मे नहीं, इशारों को समझने … Continue reading बात बिगड़ जाएगी।( हमरी कलम से )

Dirty can be anything…..

Dirty can be anything........ From clothes you wear.. To character they bear..... No matter on what ground.... Be safe, be alert... Coz Dirty can be anything........ The food you eat... The air you breathe.... No matter what amount..... Be safe, be alert...... Coz Dirty can be anything........ The relations on which you swear... The hands … Continue reading Dirty can be anything…..

The day I stopped clicking 🤳 selfies…..

The day I stopped clicking selfies, I realised that I have a right side of my face too:D I even noticed some strangers. And who were those? -- The pimples staring at me on my cheeks and forehead. I wondered where on earth have I been all these years?! SHORT POEM:- "The day I stopped … Continue reading The day I stopped clicking 🤳 selfies…..